F1 Race: क्या होती है फॉर्मूला-1 रेस? क्या रफ्तार का ये जुनून सिर्फ कुछ अंक हासिल करने के लिए

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now

Formula-F1: आपने अक्सर सड़कों पर कई लोगों को तेज रफ्तार में गाड़ी चलाते देखा होगा. हालांकि, सार्वजनिक सड़कों पर तय सीमा से तेज गति पर गाड़ी चलाना बेहद खतरनाक और गैर-कानूनी होता है. आपने शायद फॉर्मूला-1 (F1) का नाम सुना होगा. यह एक गाड़ियों की रेस की प्रतियोगिता होती. इसमें प्रतिभागी तेज रफ्तार पर गाड़ियों को दौड़ते हैं और सबसे जल्दी रेस पूरा करने वाला ड्राइवर विजयी होता है.

हालांकि, इसमें इस्तेमाल होने वाली गाड़ियां आम गाड़ियों से अलग होती हैं और इनको चलाने वाले ड्राइवर भी उच्च कौशल के प्रशिक्षित खिलाड़ी होते हैं. आइए आज इसी रेस के बारे में जानते हैं.

क्या है F1?

फार्मूला-1 रेस को हम F1 के नाम से भी जानते है. यह दुनिया की सबसे बड़ी ऑटोमोबाइल रेस प्रतियोगिता होती है और इसका आयोजन फेडरेशन ऑफ इंटरनेशनल (FIA) ऑटोमोबाइल नाम की संस्‍था कराती है. FIA की स्‍थापना सन 1904 में की गई थी. इस प्रतियोगिता को फार्मूला वन वर्ल्ड चैंपियनशिप कहा जाता है. इसके नाम मे लगा “फार्मूला” शब्द नियमों के एक सेट को कहा जाता है. F1 रेस की एक श्रृंखला होती है जिसे ग्रैंड्स प्रिक्स के नाम से भी जाना जाता है. इसका आयोजन कुछ चुनिंदा स्थलों पर होता है. खासकर पूर्व सार्वजानिक सड़कों और शहर की बंद सड़कों पर होता है.

Read More- New price of Ola electric scooter Ola के सभी स्कूटरों की कीमत हुई कम

F1: अंकों का है सारा खेल

प्रत्येक रेस के परिणाम को जोड़कर दो वार्षिक विश्व चैम्पियनशिप्स का आयोजन किया जाता है। इनमें से एक चैम्पियनशिप ड्राइवर्स के लिए है और एक आयोजकों के लिए है। फ़ॉर्म्यूला वन श्रृंखला की उत्पत्ति 1920 के दशक में और 1930 के दशक में यूरोपीय ग्रांप्री मोटर रेसिंग से हुई। फ़ॉर्म्यूला वन रेसिंग में भी, सब कुछ अंकों के खेल में है।

F1: इस तरह मिलते हैं अंक

इस दौड़ में शीर्ष दस ड्राइवरों को उनके स्थान के हिसाब से अंक मिलते हैं. अंक प्रदान करने के लिए भी नियम निर्धारित हैं. इसमें विजेता खिलाड़ी को 25 अंक दिए जाए हैं, दूसरे स्थान पर रहने वाले को 18, तीसरे स्थान वाले को 15, चौथे को 12 अंक, पाचवें को 10 अंक, छठे को 8 अंक, सातवें को 6 अंक, आठवें को 4 अंक, नौवें को 2 और दसवें को 1 अंक मिलता है.

F1: रेस के कुछ जरूरी नियम

इस रेस में, प्रत्येक टीम के पास दो ड्राइवर होते हैं, इसलिए दोनों द्वारा प्राप्त किए गए अंकों का योग टीम को दिए गए अंकों में जोड़ा जाता है। विजेता खिलाड़ियों द्वारा प्राप्त किए गए अंकों का योग के आधार पर चुना जाता है। एक फ़ॉर्म्यूला वन ग्रांड प्री इवेंट लगभग एक सप्ताह तक चलता है। एक दिन में दो मुक्त प्रैक्टिस सेशंस होते हैं और दूसरे दिन एक मुक्त प्रैक्टिस सेशंस के साथ शुरू होता है। इसमें, एक टीम के लिए केवल दो कारों का इस्तेमाल किया जा सकता है। अंतिम मुक्त प्रैक्टिस सेशंस के बाद एक क्वालिफायिंग रेस होती है।

F1: मुख्य रेस

मुख्य रेस एक वॉर्म-अप लैप के साथ शुरू होती है। इसके बाद, सभी कारें प्रारंभिक ग्रिड पर अपनी योग्यता के आधार पर मुख्य रेस के लिए इकट्ठा होती हैं। सामान्य परिस्थितियों में, रेस उन ड्राइवर द्वारा जीती जाती है जो पहले निर्धारित लैपों को पूरा करके समाप्त होने पर सबसे पहले फिनिश लाइन को पार करता है। रेस के दौरान, ड्राइवर अपनी गाड़ियों के नायलों को बदलने और किसी भी क्षति को ठीक करने के लिए पिट स्टॉप ले सकते हैं।

Read More- Bajaj की superfast 400cc Bike अब मिलेगी इतनी सस्ती कीमत पर

Leave a Comment

Advertise With Us: ब्रांड प्रमोशन या Sponser पोस्ट के लिए contact करें (bishnoirb1008@gmail.com) हमारी वेबसाइट पर मंथली लगभग 1 लाख से ज्यादा का ट्रैफिक रहता है|